एनालॉग और डिजिटल कंप्यूटर क्या होते हैं ?


एनालॉग कंप्यूटर 

पहली बार 1960-1970 में उपयोग किये गए एनालॉग कंप्यूटर एक ऐसा सिस्टम हैं, जो की एनालॉग सिग्नल पर काम किया करते हैं।विशेष रूप से एनालॉग कंप्यूटर का उपयोग इलेक्ट्रिकल, मेकैनिकल, हाइड्रोलिक आदि क्षेत्रोँ में किया जाता हैं। यह कंप्यूटर किसी भी समस्या को समझने में बहुत ही सीमित होते हैं और कभी भी सटीक उत्तर नही देते हैं। 

इन कंप्यूटर को विमान, जहाजों, पनडुब्बियों और हमारे दैनिक जीवन के उपकरण रेफ्रिजरेटर, स्टेबलाइजर आदि में उपयोग किया जाता हैं  । 

डिजिटल सिग्नल क्या हैं? 

डिजिटल कंप्यूटर

डिजिटल कंप्यूटर एक ऐसा सिस्टम या मशीन हैं जो की अंको पर कार्य करता हैं, इसमें दो अंक 0 और 1 होते हैं जिनको बिट कहा जाता हैं डिजिटल कंप्यूटर इन्ही दो अंको के रूप में किसी भी जानकारी को पढ़ते और समझते हैं। डिजिटल कंप्यूटर के तीन भाग इनपुट, प्रोसेसिंग और आउटपुट होते हैं। 

डिजिटल कंप्यूटर बहुत ही तेजी से किसी भी कार्य को  करने में सक्षम होते हैं क्योंकि यह कार्य करने के लिए भौतिक मात्रा पर निर्भर नही करते हैं। डिजिटल कंप्यूटर के कुछ उदाहरण हैं स्मार्टफोन्स, डिजिटल वॉच, डेस्कटॉप, लेपटॉप आदि। 

इन बिंदुओं से समझे एनालॉग और डिजिटल कंप्यूटर में क्या अंतर होता हैं :

  • एनालॉग कंप्यूटर की प्रोसेसिंग स्पीड कम होती हैं, जबकि डिजिटल कंप्यूटर की प्रोसेसिंग स्पीड काफी अधिक होती हैं। 
  • एनालॉग कंप्यूटर आकार में काफी बड़े होते हैं जिसकी वजह से इन्हे उपयोग करना काफी कठिन होता हैं जबकि डिजिटल कंप्यूटर माइक्रोप्रोसेसर चिप पर बने होते हैं और कुछ मिलीमीटर वर्ग जगह ही लेते हैं जिसकी  वजह से कोई भी आसानी से इन्हे इस्तेमाल कर सकता हैं। 
  • डिजिटल कंप्यूटर की तुलना में एनालॉग कंप्यूटर  काफी खर्चीले होते हैं। 
  • एनालॉग कंप्यूटर में डाटा स्टोर करने की केपेसिटी बहुत कम होती हैं जबकि डिजिटल कंप्यूटर में यह केपेसिटी काफी अधिक होती हैं। 
  • एनालॉग कंप्यूटर किसी भी कार्य के लिए भौतिक मात्रा पर निर्भर करते हैं जबकि डिजिटल कंप्यूटर, भौतिक मात्रा पर निर्भर नही करते हैं। 
  • एनालॉग कंप्यूटर कम विश्वनीय होते हैं जबकि डिजिटल कंप्यूटर अधिक विश्वसनीय होते हैं। 
  • एनालॉग कंप्यूटर में नाइस देखने को मिलता हैं जिसकी वजह से उत्तर सटीक नही मिलते हैं डिजिटल कंप्यूटर में भी नाइस आता हैं लेकिन इससे उत्तर पर कोई फर्क नही पड़ता हैं। 
  • एनालॉग कंप्यूटर की कोई निश्चित स्टेट नही होतीं है जबकि  डिजिटल कंप्यूटर दो स्टेट पर निर्भर करते हैं on या off.













एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ